विकिपीडिया का उपयोग कैसे करें

 

विकिपीडिया क्या है? (विकिपीडिया क्या है?)

विकिपीडिया एक स्वतंत्र और मुक्त स्रोत ऑफ़लाइन ज्ञानकोश है |, ज्ञानकोश का मतलब है ज्ञान का भांडार | यह ज्ञानकोश को लोगों के सहयोग से बनाया गया है | इस वेबसाइट में कोई भी उपयोगकर्ता बिना पंजीकरण के अपना आर्टिकल लिख सकता है और किसी भी आर्टिकल में सुधार कर सकता है | विकिपीडिया की शुरुआत 15 जनवरी 2001 में जिमी वेल्स और लैरी सेंगर ने की थी और इसका नामकरण लैरी सेंगर ने किया था। विकिपीडिया शब्द हवाई भाषा से लिया गया है, विकिपीडिया दो शब्दों से मिलकर बना है विकी और विश्वकोश। विकी का अर्थ है "जल्दी" इसका मतलब है एक ऐसा सर्वर प्रोग्राम जो किसी भी उपयोगकर्ता को कलाकारिकल में सुधार करने की परमिशन देता है और दूसरा शब्द है विश्वकोश जिसका अर्थ है ज्ञानकोश | इस प्रकार इन्टरनेट के माध्यम से कोई भी व्यक्ति विकिपीडिया कलाकारिकल को लिख सकता है और उसमे सुधार कर सकता है

वैसे तो इन्टरनेट पर हजारों वेबसाइटें हैं हम सभी वेबसाइट्स के नाम याद नहीं रख सकते पर कुछ ऐसी वेबसाइट होती है जो हमे याद रहती है उन्ही में से एक है विकिपीडिया | यह बहुत ही फेमस वेबसाइट है यदि आप कोई भी जानकारी सर्च करना चाहते हैं तो आप विकिपीडिया पर सर्च कर सकते हैं इसमें आपको पूरी जानकारी मिल जाती है | विकिपीडिया पर जानकारी को प्रदान करने के साथ साथ और भी कई सेवाएं उपलब्ध हैं-

विकिपीडिया की सेवाएं (विकिपीडिया सेवा)

  • विक्शनरी
  • विकिबुक्स
  • विकिसोर्स
  • Wikiquotes
  • विकीवर्सिटी
  • Wikispecies
  • MediaWiki
  • मेटा
  • मेटा-विकि
  • Wikitech

विकिपीडिया के फायदे (विकिपीडिया के लाभ)

  • विकिपीडिया पर किसी भी जानकारी को खोज करना बहुत ही आसान है |
  • विकिपीडिया पर लगभग 300 से भी अधिक भाषा में आर्टिकल है इसलिए आप किसी की भी किसी भी भाषा में जानकरी को खोज कर सकते है
  • विकिपीडिया पर जानकारी को खोज करने के साथ साथ आप उसमे सुधार भी कर सकते है |
  • इंटरनेट पर मौजूद अभी तक का सबसे बड़ा सूचना पोर्टल 'विकिपीडिया' हैं। जहाँ पर सभी सामग्री मुफ्त उपलब्ध हैं |
  • विकिपीडिया का उपयोग करने के लिए किसी भी प्रकार की कोई बाध्यता नहीं हैं, कोई भी इंटरनेट उपयोगकर्ता एक क्लिक में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। और उपलब्ध जानकारी को एक्सेस कर सकते हैं |
  • यदि आप भी अपने ज्ञान लोगों के साथ शेयर करना चाहते हैं तो आप भी विकिपीडिया पर नए पेज बनाकर अपना आर्टिकल प्रकाशित कर सकते हैं।

कंप्यूटर क्या हैं ? (What is Computer

 ~Computer एक ऐसा Electronic Device है जो User द्वारा Input किये गए Data में प्रक्रिया करके सूचनाओ को Result के रूप में प्रदान करता हैं, अर्थात् Computer एक Electronic Machine है जो User द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करती हैं| इसमें डेटा को स्टोर, पुनर्प्राप्त और प्रोसेस करने की क्षमता होती है आप दस्तावेजों को टाइप करने, ईमेल भेजने, गेम खेलने और वेब ब्राउज़ करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग कर सकते हैं। आप स्प्रैडशीट्स, प्रस्तुतियों और यहां तक ​​कि वीडियो बनाने के लिए इसका उपयोग भी कर सकते हैं।

Hardware

हार्डवेयर आपके कंप्यूटर का कोई भी हिस्सा होता है जिसमें भौतिक संरचना शामिल है, जैसे कीबोर्ड या माउस। इसमें कंप्यूटर के सभी आंतरिक भाग भी शामिल हैं, जिन्हें आप नीचे दी गई छवि में देख सकते हैं।

Software

सॉफ्टवेयर निर्देशों का कोई भी सेट होता है जो हार्डवेयर को बताता है कि क्या करना है और इसे कैसे करना है। सॉफ्टवेयर के उदाहरणों में वेब ब्राउज़र, गेम्स और वर्ड प्रोसेसर आदि शामिल हैं।  आपके कंप्यूटर पर जो कुछ भी आप करते हैं वह हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों के द्वारा किया जाता हैं| उदाहरण के लिए, अभी आप इस टेक्स्ट को वेब ब्राउज़र (सॉफ़्टवेयर) में देख रहे हैं यह एक सॉफ्टवेयर हैं और पेज पर क्लिक करने के लिए अपने माउस (हार्डवेयर) का उपयोग कर रहे हैं तो माउस एक हार्डवेयर हैं|

विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर (different types of Computers)

जब अधिकांश लोग कंप्यूटर शब्द सुनते हैं, तो वे डेस्कटॉप या लैपटॉप जैसे व्यक्तिगत कंप्यूटर के बारे में सोचते हैं। हालांकि, कंप्यूटर कई आकारों में आते हैं, और वे हमारे दैनिक जीवन में कई अलग-अलग कार्य करते हैं। जब आप एटीएम से नकदी वापस लेते हैं, स्टोर में किराने का सामान स्कैन करते हैं, या कैलकुलेटर का उपयोग करते हैं, तो इसका मतलब हैं की आप एक प्रकार का कंप्यूटर इस्तेमाल कर रहे हैं।

Desktop computers

कई लोग काम, घर और स्कूल में डेस्कटॉप कंप्यूटर का उपयोग करते हैं। डेस्कटॉप कंप्यूटर को डेस्क पर रखा जाने के लिए डिज़ाइन किया गया है, और वे आमतौर पर कंप्यूटर केस, मॉनीटर, कीबोर्ड और माउस सहित कुछ अलग-अलग हिस्सों से बने होते हैं।

Laptop computers

दूसरे प्रकार के कंप्यूटर से आप परिचित हैं inएक लैपटॉप कंप्यूटर, जिसे आमतौर पर लैपटॉप कहा जाता है। लैपटॉप बैटरी संचालित कंप्यूटर हैं जो डेस्कटॉप से ​​अधिक पोर्टेबल हैं, जिससे आप उन्हें लगभग कहीं भी उपयोग कर सकते हैं।

Tablet computers

टैबलेट कंप्यूटर-या टैबलेट-हैंडहेल्ड कंप्यूटर हैं जो लैपटॉप से ​​भी अधिक पोर्टेबल हैं। कीबोर्ड और माउस के बजाए, टैबलेट टाइपिंग और नेविगेशन के लिए टच-संवेदनशील स्क्रीन का उपयोग करते हैं। आईपैड टैबलेट का एक उदाहरण है।

पैन कार्ड download kaise kare

 Pan card kaise check kare

आपको अपना पैन कार्ड download करने के लिये इसी ऑप्शन चेक स्टेटस।dawnload  पैन के ऊपर क्लिक करना आपके सामने एक नया पेज आ जायेगा यहाँ पर आपको अपना आधार नंबर डालना हे उसके नीचे कैप्चा कोड डालना है एवं सबसे नीचे SUBMIT  के नीचे क्लिक करना है 

SUBMIT के ऊपर क्लीक करने पर आप फिर से एक दूसरे पेज पर आ जायँगे यहाँ पर आपके आधार में register मोबाइल नंबर के  एक OTP आयेगा उसको डालने के बाद फिर से SUBMIT करना है ।

फिर से SUBMIT पर क्लिक  करने के बाद आप फिर से एक नए पेज पर आ जायँगे एबं यहाँ लिखा रहेगा PAN ALLOTMENT successful यानि की आपका पैन कार्ड बन चूका है अब नीचे download pan के ऊपर क्लिक करना है 

Download pan के ऊपर क्लिक करते ही पैन कार्ड का सॉफ्ट कॉपी आपके मोबाइल या कम्प्यूटर में Download हो कर आ जायेगा अब आप इसे ओपन करके तो आपसे एक Password माँगा जायेगा ।

और बहा password होगा आपकी जन्म तिथि उद्धरण के लिए आपका डेथ ऑफ़ birth हे  1/3/1998 तो password के रूप में आपके पूरा जन्म तिथि को टाइप कर देना है ।

डेथ ऑफ birth को passwoad के रूप में टाइप करके नीचे सबमिट के ऊपर क्लिक करते ही आपका पैन कार्ड का सॉफ्ट कॉपी आपके सामने दिखेगा इस पैन कार्ड को आप प्रिंट करके कही भी सरकारी काम में या प्राइवेट काम में दे सकते है।


आधार कार्ड Dawnload करे आसानी से

अगर किसी कारन से आप का आधार खो गया है। तब आप क्या करेंगे अब इसका आसान समाधान आपके पास मौजूद है।  आइये जानते है क्या है। आधार का समाधान।
जब आप आधार के लिए आवेदन करते हे तो आधार प्रक्रिया होने में 15 दिन का समय लग जाता है। सफलतापूर्बक वेरिफिकेशन होने के बाद आपका आबेदन यू आईडीए आई से स्वीकृत हो जाता है और इसका उपडेट आप के mobile पर आ जाता हे।
इसके बाद आप आसानी से अपना आधार कार्ड ऑनलाइन download कर सकते हे 
आधार कार्ड को ऑनलाइन download कैसे करे
ऑनलाइन आधार कार्ड download करने की प्रक्रिया बहुत सरल है।
आधार कार्ड download करने के लिए, आपको अपने एनरोलमेंट नंबर या आधार संख्या की भी अबसकता होगी।
● E-Aadhar वेवसाइट पर जाये।
(https://uidai.gov.in/ )download आधार पर क्लिक करे या सीधे इस लिंक पर जाये (https://eaadhaar.uidai.gov.in/) 

* Enrollment id या आधार का विकल्प चुने 
* अगर आपने एनरोलमेंट आईडी select किया है तो आधार के डिटेल्स डाले जैसे 28 अंक का Enrollment नंबर या acknowledgment नंबर, नाम , पिनकोड और कैप्चा कोड भरे 
*अगर आप ने आधार कार्ड का ऑप्शन चुना है तो 12 अंक का आधार नंबर और दूसरी जानकारी भरे। अगर अपने वर्चुअल आईडी वनाया हे तो 16 अंक का वर्चुअल आधार आईडी डाले।
*OTP Password के लिए क्लिक करे इसके बाद आपके register मोबाइल नंबर पर आधार वेलीडेट और और download पर क्लिक करना होगा 
*आपके computer पर E-Aadhar download हो जायेगा यह password पर सुरक्षित होगा और अपने आवास का Pincode डालने के बाद ही खुलेगा इसे आप Digital प्रारूप में save कर सकते हे या इसका Print out ले सकते है।
धियान रखे की aadhar कार्ड की गई file का Password 8 कैरेक्टर्स का होगा, इसमें aadhar कार्ड में दिए गए नाम के पहले 4 लेटर्स और उसके बाद अपना जन्म का वर्ष लिखना होगा, अगर आपका नाम {DIVYA} हे और आपके जन्म का साल 1998 है तो आपका Password (DIVY 1998) होगा,
                धन्यबाद

A BRIEF COMPUTER HISTORY संक्षिप्त कंप्यूटर इतिहास



The computer as we know it today had its beggining with a 19th century English mathematics professor name Charles Babbage. 
He designed the Analytical Engine and it was this design that the basic framework of the computer of today are based on. 
Generally speaking, computer can be classified into three generations. Each generation lasted for a certain period of time, and each gave us either a new and improved computer or an improvement to the existing computer.
First generation: 1937~1946- in 1937 the first electronic digital computer was built by Dr. John V. Atanasoff and Clifford Berry. It was called the Atanasoff~Berry Computer {ABC}. In 1943 an electronic computer name the Colossus was built for the military. Other development continued until in 1946 the first general~purpose digital computer, the Electronic Numerical Integrator and Computer (ENIAC) was built it is said that this computer weighed 30 tons, and had 18,000 vacuum tubes which was used for processing . When this computer was turned on for the first time lights dim in sections of Philadelphia Computer of this generation could only perform single task, and they had no operating system..

Archaeological Survey Of India

Historical Monuments of India The Wealth of India Tourism

India's culture is a testimony to the country 
Rich and diverse heritage and with such an
Eventful history, it has become a melting pot
Of diverse forms of art and architecture.
Where in the northern parts, one can find 
Exquisite monuments by the Muslim rulers, If you come down South and in the Central Parts to see the Madhya Pradesh Monuments, one  can witness the grand Architecture brilliance in the Temples and Other heritage monuments of India. Monuments in Delhi like the Agra Fort and
Qutub Minar will leave you in awe. The 
Monuments in Uttar predesh like the great
Symbol of love. The Taj mahal as well as other historical buildings like Rani Jhansi Mahal will take you back in time. 




Monuments in
Maharashtra like the Ajanta Caves have remains  of the rich Mural art whereas the
Monuments In karnataka comprise the rock
Cut Caves of Badami and the World heritage
Site of hampi.


Science What physically happens to the sand

Here’s some sand under a microscope



As you can see, it looks just like tiny bits of glass. That’s because it is.

Sand and glass are primarily silicon dioxide, although you often find impurities that give it color.

Quartz is also silicon dioxide, but the difference isn’t chemical, it’s structural. Sand and glass have disorganized molecules which point every which way, while quartz is made up of regular crystals.

When you melt sand, it becomes “amorphous” like in the right hand diagram. Quartz has to develop under particular conditions, like diamonds do. A lot of sand is ground quartz and when you heat it to melting, it becomes amorphous.

Once you melt it, the silicon and oxygen atoms start attaching to each other so, when you cool them, they stick together instead of staying in discrete pieces. Imagine taking a bunch of ice cubes, melting them, then putting the whole container back in the freezer - you wind up with one big ice cube.

विकिपीडिया का उपयोग कैसे करें

  विकिपीडिया क्या है?  (विकिपीडिया क्या है?) विकिपीडिया एक स्वतंत्र और मुक्त स्रोत ऑफ़लाइन ज्ञानकोश है |, ज्ञानकोश का मतलब है ज्ञान का भांडा...